loader

अयोध्या में जन्में राम और मेरठ में पर्दे के श्रीराम, फिल्मों से दूर काटना पड़ा 9-10 साल का वनवास

Foto

नई दिल्ली: एक जमाना था जब रामानंद सागर का सीरियल रामायण टीवी पर आता था। जिस वक्त सीरियल प्रसारित होता था, सड़कों पर सन्नाटा पसर जाता क्योंकि उस वक्त सभी लोग रामायण देख रहे होते थे। उस महान सीरियल रामायण में राम का किरदार निभाया था, एक्टर अरुण गोविल ने। रामायण के दौर में अरुण गोविल की लोकप्रियता का आलम यह था कि लोग उन्हें ही भगवान राम समझ लेते थे। उन्हें देख हाथ जोड़ते और उनके पांव छूते।

ताराचंद्र बडजात्या की फिल्म 'पहेली' से डेब्यू

अरुण गोविल का जन्म 12 जनवरी 1958 को मेरठ में हुआ था। पढ़ाई के दौरान ही उन्हें स्टेज पर नाटक करने का शौक हो गया। अरुण को पहला ब्रेक मिला ताराचंद्र बडजात्या की फिल्म पहेली (1977) में। फिर उन्होंने सावन को आने दो, इतनी सी बात, हिम्मतवाला और सांच को आंच नहीं जैसी फिल्मों में मुख्य भूमिकाएं निभाईं। टीवी सीरियल विक्रम बेताल  में भी उनका रोल पसंद किया गया। अरुण गोविल ने लव कुश, कैसे कहूं, अपराजिता जैसे मशहूर टीवी शो में काम किया।



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश