loader

बैंड बाजे के साथ स्नान करने निकले हाथी, देखने के लिए घाट पर उमड़ी भीड़

Foto

सोनपुर. कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर सोनपुर मेला में मंगलवार सुबह स्नान के लिए छह हाथियों को गंडक नदी के घाट पर ले जाया गया। बैंड बाजे के साथ लोग नाचते गाते हाथी स्नान के लिए घाट पर पहुंचे। हाथी स्नान देखने के लिए भारी भीड़ उमड़ी। स्नान के बाद हाथी की आरती उतारी गई और उसकी पूजा की गई। 

पर्यटकों के लिए हाथी स्नान आकर्षण का केंद्र बना रहा। पानी में उतरते ही हाथियों ने सुकून का अहसास किया। हाथी पानी में लेट गए और अटखेलियां करने लगे। इस दौरान महावत उसकी सेवा में लगे रहे। काफी देर तक पानी में उलट-पुलट होने के बाद हाथी खड़े हुए और अपनी सूंड से पानी खींचकर पीठ पर डालने लगे। लगा जैसे बची-खुची सफाई खुद करना चाहते हो। 
  
कई साल बाद हाथियों से गुलजार हुआ मेला
सोनपुर मेला कई साल बाद हाथियों से गुलजार हुआ है। प्राचीन काल में यह मेला हाथियों की खरीद-बिक्री का केंद्र था। तब गंडक नदी के दोनों किनारे पर हाथी बांधे जाते थे। राजा-महाराज यहां से अपनी सेना के लिए हाथी-घोड़े खरीदते थे। अब हाथियों की खरीद-बिक्री पर रोक है। पशु क्रूरता अधिनियम के नाम पर हाथी मालिक के साथ मेला में बरती जाने वाली सख़्ती के चलते पिछले कुछ सालों से मेला में हाथियों का आना कम हो गया था। हाथी के न आने के चलते मेला अपनी पहचान खो रहा था। इसे देखते हुए प्रशासन ने इस साल हाथी मालिकों को अपने हाथी मेला में लाने के लिए मनाया। इसका असर भी दिख रहा है। मेला में छह हाथी आए हैं, जिन्हें देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग जुट रहे हैं।

 



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश