loader

दो दुकानें स्वाहा, 15 लाख का सामान खाक

Foto

सिलीगुड़ी : पिछले 48 घंटे के भीतर शहर में अग्निकांड की कई  घटनाओं से लोग सकते में हैं. जहां माटीगाड़ा के एक थर्मोकोल कारखाना और हैरदरपाड़ा के खिलौना गोदाम में भयावह अग्निकांड में करोड़ों का सामान स्वाहा हो गया था, वहीं शुक्रवार तड़के एसएफ रोड में आग लगने से दो दुकानें पूरी तरह जलकर खाक हो गई.

 

जिसमें एक दुकान फर्नीचर का है, जबकि दूसरा दुकान स्टेशनरी का है. एसएफ रोड में ही दमकल विभाग का कार्यालय है. आग लगने की खबर मिलने के बाद दमकल के तीन इंजनों ने मौके पर पहुंच आग पर काबू पाया. इन दोनों दुकानों से सटे दो खाने के होटल हैं. अगर आग ने भयावह रूप धारण किया होता तो ये दोनों दुकान भी उसकी चपेट में आ जाते.

 

बताया जा रहा है कि उन होटलों में गैस सिलेंडर रखा हुआ था. दमकल विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अगलगी के पीछे शॉर्ट सर्किट को कारण बताया गया है.   

 

 प्राप्त जानकारी के मुताबिक शुक्रवार तड़के एसएफ रोड हिन्दी हाई स्कूल के बगल में सबसे पहले अरूप विश्वास के फर्नीचर दुकान में आग लगी. थोड़ी देर में ही आग ने बगल वाले मानव घोष की स्टेशनरी दुकान को अपनी चपेट में ले लिया.

 

स्थानीय लोगों ने तत्काल इसकी जानकारी दमकल विभाग को दी. खबर मिलते ही दमकल के तीन इंजन मौके पर तीन घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया. बताया जा रहा है कि इन दुकानों के बगल में दो होटल हैं. जहां गैर कानूनी तरीके से घरेलू गैस सिलेंडर रखा हुआ था. अगर आग की लपटें उन दुकानों तक पहुंच जाती तो बड़ा हादसा हो सकता था.  

 

 इस घटना को लेकर फर्नीचर दुकान मालिक अरूप विश्वास ने बताया कि वे गुरुवार रात 10 बजे दुकान बंद कर घर ले गये. शुक्रवार तड़के फोन पर उन्हें किसी ने आग लगने की खबर दी. जब वे वहां पहुंचे तो दुकान धू-धू कर जल रहा था. उन्होंने बताया कि इस अगलगी में लकड़ी से बने पांच पलंग राख हो गये. उन्होंने बताया कि इस अग्निकांड में 10 लाख से ज्यादा का नुकसान हुआ है. 

 

जबकि स्टेशनरी दुकान मालिक का कहना है कि उनका साढ़े चार से पांच लाख का सामान जलकर स्वाहा हो गया. अगलगी की खबर पाकर नगर निगम में विरोधी दल के नेता रंजन सरकार तथा स्थानीय वार्ड पार्षद सीमा साहा ने भी अग्निकांड स्थल का निरीक्षण किया.

 

 दूसरी ओर इस संबंध में सिलीगुड़ी दमकल विभाग के डिविजनल फायर ऑफिसर आशीष पुतोतंडा ने बताया कि घर व दुकानों में खराब वायरिंग के कारण शॉर्ट सर्किट की घटना बढ़ रही है.  उन्होंने बताया कि इसको लेकर लोगों को जागरूक होना पड़ेगा. उन्होंने सलाह देते हुए कहा कि घरों व दुकानों में आईएसओ ब्रांड के तारों से ही वायरिंग कराया जाये. इसके अलावा प्रतेक दो-तीन महीने के अंतराल पर अच्छे टेक्निशियन द्वारा वायरिंग की जांच करायी जाये.  

 

 



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश