loader

2020 में चुनावी मुद्दा होगा 15 साल बनाम 15 साल: आरसीपी सिंह

Foto

पटना : जदयू के राष्ट्रीय महासचिव सह राज्यसभा में पार्टी संसदीय दल के नेता आरसीपी सिंह ने कहा है कि 2020 में चुनावी मुद्दा 15 साल बनाम 15 साल होगा.  राज्य की जनता अच्छी तरह जानती है कि नीतीश  कुमार के शासन के पहले और बाद के बिहार में क्या अंतर है और अगले पांच साल में क्या हो सकता है. 

न्याय के साथ विकास, बिहार  का समावेशी विकास, सामाजिक सौहार्द और कानून का राज हमारे नेता अपने इन  संकल्पों पर शुरू से लेकर आज तक अडिग हैं. यह बातें उन्होंने शुक्रवार को पार्टी प्रदेश मुख्यालय में नेताओं के साथ बैठक के दौरान कहीं. 

एनआरसी और  नागरिक संशोधन बिल की चर्चा करते हुए आरसीपी सिंह ने कहा कि इस नाम पर कुछ लोग बरगलाने का काम कर रहे हैं. 

हमलोगों  का एजेंडा नेशनल रजिस्टर ऑफ डेवलपमेंट का है.  कुछ पार्टियां अल्पसंख्यकों के  नाम पर भय की राजनीति करने में लगी हैं, जबकि हमलोगों की राजनीति भय के  विरुद्ध भरोसा की है. यह भय बनाम भरोसा की लड़ाई है. हमलोग अल्पसंख्यकों के  भरोसे को किसी कीमत पर टूटने नहीं देंगे. उन्होंने कहा कि पार्टी  लाइन से अलग विचार या राय रखने वाले पार्टी की ओर से स्वतंत्र हैं. 

आरसीपी सिंह ने कहा कि हमारे नेता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने  जमीन पर काम किया है और अब हमारा संगठन भी जमीन तक है. यह पार्टी के लिए बड़ी उपलब्धि है. अब हमलोगों का अगला लक्ष्य 15 दिसंबर, 2019 से पांच जनवरी,  2020 के बीच विधानसभावार सम्मेलन का है. इसके बाद बूथ तक के सभी  कार्यकर्ताओं के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन करना है. इसके लिए लगभग  400 मास्टर ट्रेनर बनाये जायेंगे. 

पार्टी 400 मास्टर ट्रेनर बनायेगी

इस दौरान मुख्य रूप से विधान पार्षद संजय कुमार सिंह उर्फ गांधीजी, ललन सर्राफ, राष्ट्रीय सचिव रवींद्र सिंह, मुख्य प्रवक्ता संजय कुमार सिंह, प्रदेश महासचिव डॉ नवीन कुमार आर्य, अनिल कुमार, परमहंस कुमार, कामाख्या नारायण सिंह, डॉ अमरदीप, युवा जदयू अध्यक्ष अभय कुशवाहा, समाज सुधार वाहिनी अध्यक्ष रंजू गीता, महिला जदयू अध्यक्ष श्वेता विश्वास आदि मौजूद रहे.



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश