loader

आक्रोशित महिलाओं ने आरोपी के घर में की तोड़फोड़

Foto

पिपरवार : दो नाबालिग बच्चियों की हत्या की घटना से पिपरवार क्षेत्र में उबाल है. घटना के विरोध में शुक्रवार को हजारों लोग सड़क पर उतरे. दिन भर की गहमागहमी के बाद शाम में ग्रामीणों द्वारा डीजीपी के नाम एसडीपीअो को ज्ञापन सौंपा गया.

एसडीपीओ ने मांगों पर विचार करने का आश्वासन दिया. साथ ही अनुसंधान कार्य त्वरित गति से करने की बात कही. इससे आक्रोशित लोग शांत होकर अपने घरों को लौट गये. 

इस बीच आक्रोशित महिलाओं ने गिरफ्तार आरोपी सोनू मोची के एलओ कॉलोनी स्थित घर पहुंच कर तोड़फोड़ कर दी. एसबेस्टस सीट को क्षतिग्रस्त कर दिया. घर में रखे सामान को क्षति पहुंचायी. कई सामान को निकाल कर बाहर फेंक दिया. इससे डरी-सहमी आरोपी की मां घर छोड़ कर अन्यत्र चली गयी. 

एक मृतका की मां अस्पताल में भर्ती : एक मृतका की मां की अचानक तबीयत खराब हो जाने के बाद उसे बचरा अस्पताल में भर्ती कराया गया. वह घटना से शोक में डूबी गुरुवार से ही गुमसुम थी. इधर दूसरी मृतका की मां को उसकी मौत की सूचना नहीं दी गयी है. उसे यह कह कर ढाढ़स बंधाया जा रहा है, उसका इलाज रांची में हो रहा है. 

आंदोलन से 13 करोड़ का नुकसान: पिपरवार. पिपरवार की घटना का सीसीएल पिपरवार एरिया के उत्पादन व डिस्पैच पर प्रतिकूल असर पड़ा है. 

आक्रोशित लोगों द्वारा पिपरवार एरिया की कोयला ढुलाई ठप करा दिये जाने से एरिया से होने वाले औसत 10 रैक कोयला डिस्पैच के मुकाबले शुक्रवार को मात्र एक रैक कोयला डिस्पैच हो सका. इस तरह नौ रैक कोयला का डिस्पैच नहीं होने से पिपरवार एरिया को लगभग सात करोड़ व भारतीय रेल को बतौर ढुलाई भाड़ा मद में लगभग छह करोड़ के राजस्व का नुकसान हुआ है. समाचार लिखे जाने तक कोयला ढुलाई शुरू नहीं हो सकी थी. 

पिपरवार : फास्ट ट्रैक बना कर दोषियों को 24 घंटे में फांसी देने की मांग

पिपरवार : पिपरवार  की दो बच्चियों की हत्या को लेकर ग्रामीणों की ओर  से डीजीपी को संबोधित आठ सूत्री मांगों का ज्ञापन शुक्रवार शाम  चार बजे  टंडवा एसडीपीओ को सौंपा गया. 

ज्ञापन में फास्ट ट्रैक बना कर दोषियों  को 24 घंटे में फांसी की सजा देने, पीड़ित परिवार को सुरक्षा सहित 25 लाख का  मुआवजा एवं सरकारी नौकरी, दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई, क्षेत्र  में अवैध ढंग से बिक रही शराब एवं नशीले पदार्थों पर शीघ्र प्रतिबंध,  स्कूल-कॉलेज के समय पुलिस की चुस्त पेट्रोलिंग, घायल बच्चे को सरकारी स्तर  पर चिकित्सा, महिलाओं की सुरक्षा व महिलाओं पर हुए लाठी चार्ज के दोषी  पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग की गयी है. ज्ञापन की प्रति मुख्य सचिव  झारखंड, एसपी व डीसी चतरा को प्रेषित है. ज्ञापन मिलने के बाद  एसडीपीओ ने लोगों को त्वरित कार्रवाई का आश्वासन दिया है. 

ज्ञापन सौंपने  वालों में पूर्व विधायक लोकनाथ महतो, बचरा उत्तरी पंचायत मुखिया गुंजन कुमारी सिंह, बचरा दक्षिणी पंचायत मुखिया रीना देवी, खलारी पूर्वी जिप  सदस्य अब्दुल्ला अंसारी, समाजसेवी नागेश्वर महतो, मीना देवी,  बालेश्वर महतो, टहलू महतो, रवींद्र कुमार सिंह आदि शामिल थे.

गुरुवार को भुरकुंडा आया था पिपरवार की मासूम बच्चियों का कातिल

दोस्त से मिल कर बतायी थी घटना, मांगा था पैसा

भुरकुंडा : पिपरवार थाना क्षेत्र में दो बच्चियों की हत्या मामले का मुख्य आरोपी सोनू मोची घटना के अगले  दिन गुरुवार को भुरकुंडा आया था. यहां वह अपने दोस्त भुरकुंडा के जवाहर नगर बोनरधौड़ा हनुमानगढ़ी निवासी शिवा राम से मिला. सोनू ने उसे घटना के बारे में पूरी बात बतायी और पैसे की मांग की. शायद सोनू क्षेत्र से निकलने की तैयारी में था, लेकिन शिवा ने बताया कि उसके पास पैसा नहीं है. 

शिवा ने उससे कहा कि वह बैंड बाजा पार्टी में काम करके किसी तरह गुजारा करता है. वह पैसा नहीं दे सकता है. इसके बाद सोनू ने शिवा से दारू पिलाने की जिद की. इसके बाद सोनू ने उसे 25 रुपये की महुआ शराब पिलायी. शराब पीने के बाद सोनू भुरकुंडा रेलवे स्टेशन से दोपहर की ट्रेन पकड़ कर वापस पिपरवार लौट गया.  

इधर, भुरकुंडा पुलिस ने पिपरवार पुलिस की सूचना के बाद शिवा को पकड़ा. सोनू  का मोबाइल भुरकुंडा आकर बंद हो गया था. उसकी अंतिम बातचीत शिवा से ही हुई  थी. इसी आधार पर पुलिस ने शिवा को पूछताछ के लिए उठाया. शिवा ने पुलिस को  सोनू के बारे में सब कुछ बता दिया. हालांकि, इसी बीच पिपरवार पुलिस ने सोनू को भी पकड़ लिया.



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश