loader

पुलिस ने निर्दोष ग्रामीण को मारी तीन गोलियां, मौके पर मौत; खूंटी-मुरहू में कोहराम

Foto

खूंटी: नक्सलियों की टोह में निकली पुलिस जवानों की गोली से एक निर्दोष ग्रामीण की मौत हो गई। यह घटना शुक्रवार की सुबह लगभग पांच बजे मुरहू थानांतर्गत कोयंसार उत्क्रमित मध्य विद्यालय के समीप हुई। मृतक 36 वर्षीय रोशन होरो मुरहू थानांतर्गत कुम्हारडीह निवासी नवीन जोसेफ होरो का पुत्र था। इस संबंध में खूंटी एसपी आशुतोष शेखर ने रात लगभग आठ बजे खूंटी थाना परिसर में मीडिया को घटना की जानकारी देते हुए पुलिस की गलती स्वीकारी। उन्होंने कहा कि मृतक का कोई आपराधिक इतिहास नहीं था। 

उन्होंने मृतक के परिजनों के प्रति झारखंड पुलिस की ओर से गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि इस घटना से हम लोग पूरी तरह से मर्माहत हैं। झारखंड पुलिस मृतक के परिजनों के साथ है। हम उन्हें राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के दिशा-निर्देश के आलोक में हरसंभव सहयोग करेंगे। परिवार की जो भी मांग होगी उसे पूरा किया जाएगा। पूरी घटना की मजिस्ट्रेट जांच करायी जाएगी। इसके अतिरिक्त अन्य जांच एजेंसी से भी जांच करायी जाएगी।

उन्होंने बताया कि गत रात सीआरपीएफ व तपकरा पुलिस नक्सलियों के एकत्र होने की सूचना पर तपकरा-मुरहू के सीमावर्ती क्षेत्र में छापामारी अभियान में निकले थे। इसी दौरान रात लगभग 10 बजे नक्सलियों ने पुलिस पार्टी पर फायरिंग की। पुलिस द्वारा जवाबी कार्रवाई किए जाने पर नक्सली मुरहू की ओर भाग निकले। इसी घटना को लेकर शुक्रवार की सुबह सीआरपीएफ, सैट व मुरहू पुलिस की संयुक्त टीम गठित कर उसे नक्सलियों की टोह में भेजा गया। टीम जब कुम्हारडीह गांव की ओर छापामारी के लिए निकली। रास्ते में मोटरसाइकिल से आ रहे एक युवक की गतिविधि पुलिस को संदिग्ध नजर आयी तो उसे रुकने का इशारा किया गया। इस पर उक्त युवक मोटरसाइकिल छोड़कर भागने लगा। छापामार टीम ने नक्सली समझकर उस पर तीन फायर कर दिए। पुलिस की गोली लगने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया। इसके बाद उसे उठाकर मुरहू सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया, जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। युवक के पास से एक बोरी में रखी करीब 10 किलो जानवर की खाल बरामद हुई। बाद में छानबीन करने पर पता चला कि मृतक कुम्हारडीह गांव का था और उसके खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है। इसके बाद पुलिस काे अपनी गलती का अहसास हुआ।एसपी ने बताया कि मृतक का छोटा भाई जुनास होरो फौज में है। परिजनों का कहना है कि उसके आने के बाद ही वे अपना मांग पत्र देंगे। परिजनों की जो भी मांग होगी उसे हरसंभव पूरा किया जाएगा। 



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश