loader

लॉकडाउन के दौरान बेंगलुरु पुलिस ने राहगीरों को खिलाया खाना, महाराष्ट्र और झारखंड में लिया ये फैसला

Foto

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश के नाम संबोधन में अगले 21 दिनों यानि 14 अप्रैल तक लॉकडाउन की घोषणा की है। इसके बाद रोजाना दिहाड़ी मजदूरी करके अपने अपने और परिवार का भरनपोषण करने वाले लोगों के सामने बड़ी समस्या खड़ी हो गई है। ऐसे में कई राज्य सरकारों ने कई ऐलान किए है। इस कड़ी में बेंगलुरु पुलिस की कुछ फोटो सामने आई हैं जिसमें वह सड़कों में रहने वाले लोगों का खाना उपलब्ध करा रही है। इसके लिए बेंगलुरु पुलिसकर्मी अपनी जिप्सी में खाना लेकर सड़क में घूम-घूमकर जरूरतमंद लोगों को खाना उपलब्ध करा रहे हैं।इतना ही नहीं 21 दिनों के लॉकडाउन के चलते लोगों को रोजमर्रा के सामान के लिए न भटकना पड़े इसको लेकर महाराष्ट्र के एक जिला प्रशासन ने महत्वपूर्ण कदम उठाया। महाराष्ट्र के  सांगली जिला प्रशासन ने नागरिकों को कॉल पर आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी देने के लिए अपना फोन नंबर जारी किया है। पुलिस कर्मी और जिला प्रशासन डिलीवरी की सुविधा प्रदान करेगा। कुपवाड़, मिराज और सांगली शहर में सेवाएं प्रदान की जा रही है।वहीं साउथ बेंगलुरु में कोरोना वायरस के मद्देनजर राशन की लाइन में खड़े लोगों के बीच सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए जमीन पर लाइनें और गोले बनाए गए हैं।

झारखंड की राजधानी रांची में जिला प्रशासन ने लोगों की समस्याओं को दूर करने के लिए दो हेल्पलाइन नंबर जारी किए है। रांची के DC 0राय महिमापत रे ने कहा है कि रांची जिला प्रशासन आपकी हर मदद करेगा कि अगले 21दिन आसानी से कटे। इस पहल के लिए हमने दो हेल्प लाइन नंबर 104 और 1950 लॉन्च किए हैं। कोई भी समस्या आने पर आप इस पर फोन कर सकते हैं।  



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश