loader

शुभमन गिल के बचाव में आए युवराज सिंह, बोले- वह किसी को कभी गाली नहीं दे सकता

Foto

पूर्व भारतीय ऑलराउंडर युवराज सिंह ने रणजी ट्रॉफी के दौरान शुभमन गिल के अपना आपा खो देने पर उनका बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने किसी को गाली नहीं दी थी। रणजी ट्रॉफी में दिल्ली के खिलाफ एक मैच में शुभमन गिल को काफी गुस्सा आ गया था। युवराज सिंह फिलहाल चंडीगढ़ में हैं। वहां वह पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन द्वारा आयोजित 21 दिन के कैंप में शिरकत कर रहे हैं। वह युवा खिलाड़ियों को मेंटर कर रहे हैं। युवराज सिंह का कहना है कि 20 वर्षीय शुभमन गिल एक खास प्रतिभा है। शुभमन पर अंपायर के फैसले का विरोध करने के लिए जुर्माना लगाया गया है। फैन्स को भी शुभमन का व्यवहार अच्छा नहीं लगा था और सोशल मीडिया पर इसकी काफी आलोचना हुई थी। भारत के लिए अपना अंतिम मैच 2017 में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेलने वाले युवराज ने कहा, ''मैं उस समय मैदान पर ही था। शुभमन ने किसी को गाली नहीं दी। उसने सिर्फ अंपायर के फैसले पर सवाल उठाए। कई बार बल्लेबाज यह करते हैं। आप देखिए वह युवा हैं और उनमें अच्छा करने की भूख है। जब मैंने खेलना शुरू किया मुझे भी इस तरह के अनुभव हुए।'' मुंबई इंडियंस ने शेयर की 'जूनियर पांड्या' की पहली तस्वीर, हार्दिक की गोद में आए नजर बता दें कि उस मैच में शुभमन गिल ने दिल्ली के गेंदबाज सुबोध भाटी की गेंद आउट होने के बाद क्रीज छोड़ने से इनकार कर दिया था। इसके बाद शुभमन की 100फीसदी फीस काट ली गई थी। जहां तक उनके करियर का सवाल है तो वह फर्स्ट क्लास में 73.55 की औसत से 2133रन बना चुके हैं। इनमें सात शतक और 10 अर्द्धशतक शामिल हैं। संजू सैमसन के कोच ने बताया, क्यों टीम इंडिया में ऋषभ पंत को मिल रहे ज्यादा मौके रणजी ट्रॉफी में उनका अधिकतम स्कोर 268 है। लिस्ट ए क्रिकेट में भी उनका औसत 57 मैचों में 45.60 है। वह आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए भी काफी अच्छा खेले हैं। युवराज सिंह ने पिछले साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। इसके बाद उन्होंने टोरंटो नेशनल्स में ग्लोबल क्रिकेट टी-20 कनाडा में भाग लिया। वह अबू धाबी में टी-10 लीग में मराठा अरेबियंस के लिए खेले। ऑस्ट्रेलिया में वह बुशफायर बैश चैरिटी मैच में भी हिस्सा बने थे।



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश