loader

'झारखंड ही नहीं देश के लिए अनमोल रत्न थे डा. रामदयाल मुंडा'

Foto

चाईबासा : पश्चिमी सिंहभूम जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से बुधवार को पूर्व राज्यसभा सदस्य, कुलपति, पद्मश्री सम्मान से नवाजे गए डा. रामदयाल मुंडा की पुण्यतिथि पर पार्टी पदाधिकारियों ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित करने के उपरांत दो मिनट का मौन धारण कर उनकों श्रद्धांजलि अर्पित किया व इसके साथ ही उनके जीवन कृत्य पर परिचर्चा भी की गई। वक्ताओं ने कहा कि डा. रामदयाल मुंडा का सपना था कि हर गांव में अखाड़ा हो और झारखंड की संस्कृति ही राज्य की पहचान है उसे आगे बढ़ाने से ही राज्य का विकास होगा। डा. मुंडा झारखंड ही नहीं बल्कि पूरे देश के लिए एक अनमोल रत्न थे। वे व्यक्ति सौभाग्यशाली हैं, जिन्हें उनसे मिलने और उनके विचारों को निकट से जानने का अवसर प्राप्त हुआ। राज्य के रांची जिले के गांव देऊरी में जन्में डा. रामदयाल मुंडा को एक ऐसे व्यक्ति के रूप में याद किया जाता है, जिनका प्रभाव शिक्षित एवं अशीक्षित, शहरी एवं ग्रामीण वर्ग, सभी में अद्वितीय थे। डा. मुंडा साधारण लोगों के साथ भी वैसे ही मिलनसार थे, जैसे कि विश्व के बड़े-बड़े विद्वानों एवं राजनेताओं के साथ। राष्ट्रीय व राज्य स्तर पर व्याप्त सामाजिक एवं आर्थिक असमानता को पाटने के लिए आज हमें ऐसे ही आचरण एवं सोच की जरूरत है। इस अवसर पर सदर प्रखंड अध्यक्ष दिकु सवैयां, जानवी कुदादा, पूर्व जिप अध्यक्ष अनीता सुम्बरुई, नगर अध्यक्ष मुकेश कुमार, सांसद प्रतिनिधि त्रिशानु राय, जितेन्द्र नाथ ओझा, गणेश कोड़ा, राकेश सिंह, कार्यालय सचिव सुशील कुमार दास, मो. सलीम आदि उपस्थित थे।



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश