loader

Republic Day at Gandhi Maidan: गांधी मैदान में गेट नंबर 10 से होगा पासधारकों का प्रवेश, आम आदमी के प्रवेश पर प्रतिबंध

Foto

गणतंत्र दिवस समारोह के लिए गांधी मैदान में तैयारी पूरी हो गई है। रविवार को परेड रिहर्सल के बाद मैदान को सील कर दिया गया। अब इसे 26 जनवरी को सुबह छह बजे खोला जाएगा। समारोह के समय उन्हीं लोगों को प्रवेश दिया जाएगा, जिन्हें पास जारी किया गया है। गांधी मैदान में सुबह नौ बजे राज्यपाल झंडा फहराएंगे। इससे पहले रविवार को पुलिस परेड के रिहर्सल की सलामी प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने ली। परेड में कुल 17 कंपनियों ने भाग लिया। इसके बाद आयुक्त ने मैदान में साफ-सफाई, बिजली, शौचालय तथा सुरक्षा का जायजा लिया। ये गेट खुले रहेंगे समारोह में गांधी मैदान के सभी गेट नहीं खुलेंगे। जिला प्रशासन ने चुनिंदा गेट को ही खोलने की इजाजत दी है। सिटी मजिस्ट्रेट सुधीर कुमार ने बताया कि एक नंबर गेट से मुख्यमंत्री और राज्यपाल का प्रवेश होगा। पांच नंबर गेट से पुलिस परेड में भाग लेने वाले जवान और झांकियां जाएंगी। 9 नंबर गेट पत्रकारों के लिए होगा तथा 10 नंबर गेट से ऐसे लोग मैदान में प्रवेश करेंगे, जिन्हें पास निर्गत किया गया है। बिना पास के प्रवेश की इजाजत नहीं है। मैदान के आसपास वाहन पार्किंग की व्यवस्था होगी ताकि सड़क जाम नहीं हो। कारगिल चौक पर शहीदों को किया नमन प्रमंडलीय आयुक्त ने गांधी मैदान में पुलिस परेड का निरीक्षण करने के बाद कारगिल चौक पर शहीदों को पुष्प अर्पित किया। उन्होंने यहां की व्यवस्था का भी जायजा लिया क्योंकि 26 जनवरी को राज्यपाल कारगिल चौक पर शहीदों को नमन करेंगे। आम आदमी के प्रवेश पर प्रतिबंध पुलिस परेड एवं झांकी देखने के लिए आम आदमी को प्रवेश की इजाजत नहीं दी गई है। अधिकारियों का कहना है कि संक्रमण के कारण मैदान में भीड़ नहीं हो। इसीलिए प्रवेश की इजाजत नहीं दी गई है, जिनके पास पास होगा वही प्रवेश करेंगे। 10 विभागों द्वारा 26 जनवरी को झांकी प्रदर्शित की जाएगी। सुरक्षा को लेकर अलर्ट जारी गणतंत्र दिवस को लेकर राजधानी पटना में अलर्ट जारी कर दिया गया है। सुरक्षा के लिहाज से तगड़े इंतजाम किये गये हैं। एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड सहित सभी संवेदनशील स्थानों पर पुलिस व जीआरपी को जांच के निर्देश दिये गये हैं। 15 सौ अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती भी की गई है। सुरक्षाकर्मियों को निर्देश दिया गया है कि जो भी संदिग्ध दिखे उसकी तलाशी ली जाए। सत्यापन के बाद ही उनको छोड़ा जाए। सभी थानों को अलर्ट जारी कर निर्देश दिया गया है कि 26 जनवरी पर शांति बनी रहे। कहीं पर असामाजिक तत्व गड़बड़ी न फैला सकें। इसलिए हर स्तर पर चौकसी बरती जाए। अपने क्षेत्रों में गश्ती तेज करें। रात में विशेष गश्ती की व्यवस्था की जाए, ताकि कहीं कोई गड़बड़ी न हो। एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने बताया कि शहर की सुरक्षा के लिए 15 सौ अतिरिक्त पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। लिहाज से संवेदनशील जगहों पर इनकी तैनाती की गई है। इसके अलावा प्रमुख चौराहों पर भी इनकी तैनाती है। ट्रेन और रेलवे ट्रैक की ली गई तलाशी सुरक्षा की कड़ी में रविवार की शाम को पुलिस और जीआरपी द्वारा जांच अभियान शुरू कर दिया गया। सभी होटलों व ढाबों की पुलिस जांच कर रही है। होटलों में ठहरने वालों का भी सत्यापन शुरू कर दिया गया है। होटल संचालकों से कहा गया है कि कोई संदिग्ध दिखे तो पुलिस को तुरंत जानकारी दें। सभी की इंट्री रजिस्टर में जरूर करें। पटना जंक्शन पर आरपीएफ-जीआरपी भी चौकन्ना है। रविवार को चप्पे-चप्पे की तलाशी ली गई। जीआरपी और आरपीएफ द्वारा आने-जाने वाली ट्रेनों व रेलवे ट्रैक की भी तलाशी ली गई। पटना जंक्शन आरपीएफ पोस्ट के इंस्पेक्टर विनोद सिंह ने बताया कि 26 जनवरी को देखते हुए स्टेशन की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता की गई है। 26 जनवरी के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है। थानेदारों को गश्ती तेज करने के निर्देश दिए गए हैं। सार्वजनिक स्थानों पर पुलिस लगातार पेट्र्रोंलग कर रही है। -उपेंद्र कुमार शर्मा, एसएसपी, पटना



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश