loader

कोरोना काल में लर्निंग लॉस की भरपाई को होली तक तैयार होगा पहली से 10वीं स्टूडेंट्स का कैचअप कोर्स

Foto

बिहार में कोरोना संक्रमण की वजह से शैक्षिक सत्र 2020-21 की स्कूलबंदी के कारण हुई पढ़ाई की क्षति (लर्निंग लॉस) की भरपाई के लिए शिक्षा विभाग द्वारा तैयार कराया जा रहा कैचअप कोर्स जल्द ही तैयार हो जाएगा। शिक्षा विभाग ने इसकी तैयारी का जिम्मा राज्य शिक्षा शोध एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) को दिया है। इसमें राज्यभर के सरकारी स्कूलों के चुनिंदा विषयवार विशेषज्ञ शिक्षकों की मदद ली जा रही है। जानकारी के मुताबिक मार्च के पहले हफ्ते में कैचअप कोर्स बनकर तैयार हो जाएगा। होली के पहले बिहार पाठ्य पुस्तक निगम द्वारा इसका प्रकाशन करा लिया जाएगा। एससीईआरटी से समन्वय करके बिहार शिक्षा परियोजना परिषद द्वारा तीन माह का यह विशेष पाठ्यक्रम 25 मार्च तक हर जिले के जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय के माध्यम से स्कूलों में उपलब्ध कराने का लक्ष्य तय किया गया है, ताकि अप्रैल के पहले हफ्ते से कैचअप कोर्स के मुताबिक सरकारी स्कूल के बच्चों का नया शैक्षिक सत्र प्रारंभ हो सके। शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने पहले ही जिलों को निर्देश दे रखा है कि पहली से दसवीं कक्षा तक के विद्यार्थयों के लिए तैयार हो रहे इस कैचअप कोर्स के माध्यम से हर नई कक्षा में आनेवाले विद्यार्थी को अप्रैल से जून तक पढ़ाया जाय। 90 दिनों के दौरान कुल 60 कार्य दिवसों में अप्रैल से जून के बीच स्कूलों का संचालन होना है और इसी के मद्देनजर सभी विषयों के पाठ्यक्रम तैयार कराये जा रहे हैं। फोकस विषयवार वैसे पाठों पर है जिनसे जुड़े पाठ अगली कक्षा में भी हैं। 10 फरवरी से ही पाठ तैयार कर रहे हैं शिक्षक जानकारी के मुताबिक सरकारी स्कूलों के पहली से दसवीं तक के बच्चों के कोरोना के लर्निंग लॉस को कम करने को लेकर कैचअप कोर्स बनाने की प्रक्रिया फरवरी से ही चल रही है। इसको लेकर एससीईआरटी में राज्यभर के विषय विशेषज्ञ करीब 80 शिक्षकों को क्रमवार पटना बुलाया गया है। 10 फरवरी से ही शिक्षक राजधानी में जमे हैं। शिक्षकों की पहली कार्यशाला 10 से 13 फरवरी, दूसरी कार्यशाला 18 से 20 फरवरी जबकि तीसरी और अंतिम कार्यशाला एससीईआरटी में 25 और 26 फरवरी को संपन्न हुई है। उम्मीद है कि 3 मार्च तक कैचअप कोर्स अंतिम रूप ले लेगा। नामांकन अभियान के बच्चे भी तीन माह इसी से पढ़ेंगे सरकारी स्कूलों में पहले से नामांकित बच्चे अगली कक्षा में प्रमोट होने वाले हैं। इनके साथ ही 8 से 20 मार्च में नामांकन अभियान के तहत अनामांकित तथा ड्रापआउट वाले जिन बच्चों के एडमिशन होंगे, उन्हें भी अगले तीन माह तक कैचअप कोर्स ही पढ़ाया जाएगा। इसको लेकर शुक्रवार को ही प्रधान सचिव ने जिलों को निर्देश जारी किया था।



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश