loader

करोड़ों खर्च कर पौधारोपण, छायादार पेड़ बनने से पहले ही सूख गए

Foto

तुपुदाना : वन विभाग के द्वारा वित्तीय वर्ष 2020-21 में रिंग रोड के दोनों किनारे 10 किलोमीटर के दायरे में पौधरोपण किया गया था। इसमें करोड़ों रुपये खर्च हुए थे लेकिन स्थिति यह है कि 10% भी पौधे सही सलामत नहीं हैं। रिंग रोड सीटीओ से लेकर हाजी चौक तक रिंग रोड के दोनों किनारों में जहां जगह मिली, वहां पर पौधरोपण किया गया लेकिन पौधों की देखभाल नहीं होने से ज्यादातर पौधे सूख गए। आज स्थिति यह है कि 2020-21 वित्तीय वर्ष में लगाए गए पौधों की लागत करोड़ों रुपये से ज्यादा रही यानी कि एक किलोमीटर पौधरोपण में 10 लाख रुपये वन विभाग के खर्च हुए। इस तरह पौधरोपण में सरकारी रुपयों का दुरुपयोग किया गया। रिंग रोड बनने के बाद सड़क के दोनों ओर छायादार वृक्ष लगाने की योजना वन विभाग के द्वारा बनाई गई थी। इस योजना के तहत पौधरोपण किया गया था, ताकि पौधे बड़े होकर छायादार पेड़ का रूप लें और रोड पर चलने वाले राहगीरों को छाया मिल सके, लेकिन विभागीय लापरवाही की वजह से पौधरोपण में भारी अनियमितता बरती गई। इससे इस महत्वाकांक्षी योजना ने दम तोड़ दिया।



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश