loader

Bihar Cabinet Meeting : कैबिनेट ने अतिथि शिक्षकों के मानदेय में पांच सौ रुपये की बढ़ोतरी को दी मंजूरी

Foto

मंत्रिमंडल ने विभिन्न विश्वविद्यालयों में अतिथि शिक्षक के रूप में काम करने वाले शिक्षकों के मानदेय में पांच सौ रुपये की वृद्धि की है। राज्य के बिजली उपभोक्ताओं को बिजली उपभोग के विरुद्ध में दी जाने वाली सब्सिडी में इस वर्ष राज्य सरकार 6043 करोड़ रुपए खर्च करेगी। मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिमंडल (Bihar Cabinet meeting) की बैठक में आठ प्रस्ताव को स्वीकृत किया गया। इसके साथ ही राज्य के सभी जिला मुख्यालय व अनुमंडलों में वृद्धाश्रम खोलने का प्रस्ताव भी मंत्रिमंडल ने स्वीकृत किया। इस नई योजनाओं के तहत राज्य के सभी 38 जिला मुख्यालय और 101 अनुमंडल में वृद्धजन आश्रय बनाए जाएंगे। पूर्व में अतिथि शिक्षकों को प्रति क्लास एक हजार रुपये और महीने में अधिकतम 25 हजार रुपये दिए जाते थे। अब शिक्षकों को प्रति क्लास 15 सौ रुपये और महीने में अधिकतम 50 हजार रुपये दिए जाएंगे। इसके साथ ही नए अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति के लिए किसी एक कुलपति की अध्यक्षता में एक कमेटी गठन का प्रस्ताव भी मंत्रिमंडल ने स्वीकृत किया है। बता दें कि राज्य में अतिथि शिक्षकों की संख्या 16 सौ के करीब है। मंत्रिमंडल ने इसके लिए गठित होने वाली चयन समिति की संरचना में संशोधन एवं उनकी नियुक्ति संबंधी शर्तों में आंशिक संशोधन की मंजूरी दी है। बैठक के बाद कैबिनेट के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने बताया कि राज्य के बिजली उपभोक्ताओं को विगत कुछ वर्षों से बिजली खपत के आधार पर प्रति यूनिट एक निर्धारित अनुदान मिलता है। बीते वर्ष इस मद में 56 सौ करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए थे। इस वर्ष राशि बढ़ाकर 6043 करोड़ रुपये की गई है। बिजली उपभोक्ताओं की संख्या बढऩे की वजह से अनुदान की राशि भी बढ़ाई गई है। अनुदान मद में स्वीकृत राशि रिजर्व बैंक के माध्यम से सीधे एनटीपीसी को भुगतान के लिए स्वीकृत की जाएगी।



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश