loader

Navratri Bhajans 2021: अनुराधा पौड़वाल और अनूप जलोटा भजनों की वजह से रखते हैं खास पहचान, देखें वीडियो

Foto

नवरात्र में हर तरफ रहती है मां दुर्गा के भजन-स्तुति और भेंटों की गूंज। इन्हें गाकर ही हिंदी सिनेमा में संगीत के सरताज बन गए कई गायक कलाकार... नवरात्र पर चहुं ओर जय माता दी के उद्घोष से माहौल भक्तिमय हो जाता है। हिंदी सिनेमा में अनूप जलोटा, अनुराधा पौड़वाल समेत अनेक गायक हैं जो सिर्फ अपने भजनों की वजह से खास पहचान रखते हैं। माता के जयकारों को गाने वाले इन गायकों और संगीतकारों की वाणी भक्तों को आस्था की नदी में डुबो देती है। पिछले तीस साल से माता की भेटें लिखते आ रहे रवि चोपड़ा का कहना है, 'आज भी हर रोज सुबह उठने के बाद पूजा-पाठ करके मैं मां भगवती के चरणों में लिखने के लिए बैठ जाता हूं। सभी बड़े गायक स्वर्गीय नरेंद्र चंचल, अनुराधा पौड़वाल, सुरेश वाडकर, सुखविंदर सिंह ने मेरी लिखी भेंटों को गाया है। मेरे लिए इश्क माता रानी ही हैं। मैंने जब से होश संभाला है तब से घर में वैष्णों माता की ही पूजा देखी थी। मन उनसे ही जुड़ा हुआ था। गाजियाबाद का रहने वाला हूं, पहले खुद माता रानी का जागरण करता था। बिना पैसे लिए जागरण करते थे। मेरे एक मित्र थे, संजय बग्गा मुझे मुंबई ले आए थे। संगीतकार सुरिंदर कोहली ने मुझे सबसे पहले मौका दिया था। उन्होंने मुझे गुलशन कुमार से मिलवाया था। पहला एलबम था जागरण की रात, जिसे कविता पौड़वाल ने गाया था। काफी चीजें लिखना जानता हूं, लेकिन माता रानी के भजन लिखने में जो आनंद है, वह किसी में नहीं। यह पुण्य का काम भी है और आजीविका का साधन भी है। संगीत का दौर भले ही बदला हो, लेकिन मैंने ऐसा नहीं देखा कि भजन रिकॉर्ड होने कम हुए हों। भेंटें लिखने की वजह से दामन से भी ज्यादा खुशियां मां भगवती ने दी हैं।'



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश