loader

पश्चिम बंगाल में MHA की 4 सदस्यीय टीम, हिंसा मामले पर राज्य के गर्वनर से गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट

Foto

केंद्रीय गृह मंत्रालय (Union Home Ministry) ने चार सदस्यों की एक टीम का गठन किया है जो पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद हुए हिंसा मामलों की जांच करेगी। साथ ही यह टीम राज्य में ऐसी हिंसक घटनाओं के तह तक जाएगी। यह जानकारी गुरुवार को अधिकारियों ने दी। इस टीम का नेतृत्व मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव कर रहे हैं। टीम अपने काम के लिए राज्य में आज सुबह पहुंच चुकी है। बुधवार को मंत्रालय की ओर से पश्चिम बंगाल सरकार को इन हिंसा के मामलों में रिपोर्ट सौंपने व बिना समय गंवाए इसे रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाने को कहा है। मंत्रालय की ओर से चेतावनी दी गई थी कि यदि राज्य सरकार इसे रोकने में असफल रही तो गंभीर फैसला लेना होगा। मंगलवार तक राज्य के विभिन्न हिस्सों में कम से कम 6 लोगों की मौत हो गई। भाजपा ने आरोप लगाया है कि तृणमूल कांग्रेस के असामाजिक तत्वों ने इसके पार्टी वर्करों पर हमला किया और जान ले ली। वहीं पार्टी के महिला सदस्यों पर भी हमला बोला, उनके घरों को तहस-नहस कर दिया। भाजपा ने दावा किया कि चुनाव के बाद हुए हिंसा की घटनाओं में करीब 14 BJP वर्करों की मौत हो गई और करीब 1 लाख लोग अपने घरों को छोड़ने के लिए मजबूर हो गए।बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से जारी हिंसा पर अब तक रिपोर्ट न भेजे जाने से केंद्रीय गृह विभाग खफा है और राज्य सरकार को चेतावनी भरे लहजे में दूसरा पत्र जारी किया है। केंद्रीय गृह विभाग ने सूबे के मुख्य सचिव को बुधवार को एक और पत्र भेजा।



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश