loader

कुंती गुट ही असली Janata Mazdoor Sangh, झारखंड सरकार ने दी मान्यता; मनीष ने बच्चा गुट को दी चेतावनी

Foto

धनबाद, जनता मजदूर संघ पर कब्जे को लेकर कुंती सिंह गुट और बच्चा सिंह गुट के बीच चल रही असली-नकली की लड़ाई अब थमने वाली है। झारखंड सरकार निबंधन विभाग ने जनता मजदूर संघ कुंती गुट को मान्यता दी है। इससे कुंती गुट खेमा में जोश भर गया है। जनता मजदूर संघ कुंती गुट के संयुक्त महामंत्री सिद्धार्थ गाैतम उर्फ मनीष सिंह ने कहा है कि उनके मजदूर संघ के नाम, लोगो और लेटर पैड का इस्तेमाल करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे। बच्चा सिंह और उनके लोग जनता मजदूर संघ के नाम का इस्तेमाल करेंगे तो जेल भेजेंगे। क्या है मामला जनता मजदूर संघ एक जमाने में धनबाद का सबसे बड़ा मजदूर संघ था। इसकी स्थापना झरिया के बहुचर्चित विधायक सूरजदेव सिंह ने की थी। डेढ़ दशक पहले सूरजदेव सिंह के परिवार में विवाद हुआ। इसके बाद उनके अनुज झारखंड सरकार के पूर्व मंत्री बच्चा सिंह ने अलग राजनीति शुरू की। दूसरी तरफ सूरजदेव सिंह की पत्नी और झरिया की पूर्व विधायक कुंती सिंह ने जनता मजदूर संघ की बागडोर अपने हाथों में ली। इसी के बाद धनबाद में जनता मजदूर संघ दो गुटों में बंट गया। कुंती गुट और बच्चा सिंह गुट। दोनों गुट खुद को असली जनता मजदूर संघ बताता। इसके बाद कानूनी लड़ाई शुरू हुई।जनता मजदूर संघ कुंती गुट के संयुक्त महामंत्री सिद्धार्थ गाैतम उर्फ मनीष सिंह ने मंगलवार को कुंती निवास में संवाददाता सम्मेलन कर जनता मजदूर संघ पर कानूनी विजय की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि निबंधन झारखंड ने उन्हें मान्यता दी है। बिहार के जमाने में पंजीकृत मजदूर संघों के निबंधन के लिए झारखंड सरकार ने 31 अक्टूबर, 2019 तक का समय दिया था। बच्चा गुट ने निबंधन के लिए आवेदन नहीं दिया। कुंती गुट की ओर से दिया गया था। निबंधन झारखंड सरकार ने 16 जुलाई, 2021 को जनता मजदूर संघ को मान्यता प्रदान की है।



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश