loader

UP विधान सभा चुनाव 2022 : वाराणसी बनने जा रहा सियासी अखाड़ा, बिहार की सियासत ने पसारे पांव

Foto

उत्‍तर प्रदेश विधान सभा चुनाव 2022 की तैयारी में यूपी के ही छोटे सियासी दल नहीं लगे हैं बल्कि बिहार की भी सियासत ने पांव यूपी में पसारने शुरू कर दिए हैं। पूर्वांचल के रास्‍ते बिहार के छोटे दलों ने यूपी में दस्‍तक देना शुरू कर दिया है। दरअसल दो दिन बाद यानि 25 जुलाई को फूलन देवी के शहादत दिवस के मौके पर पूरे उत्‍तर प्रदेश में विकासशील इंसान पार्टी (वीआइपी) शक्ति प्रदर्शन की तैयारी में है। जबकि अन्‍य क्षेत्रीय दल भी जल्‍द यूपी के चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी कर रहे हैं। वीआईपी पार्टी की ओर से वाराणसी मंडल के रोहनिया, सुजाबाद पड़ाव, जौनपुर के शाहगंज, मीरजापुर मंडल में सदर और ज्ञानपुर, इसके अलावा आजमगढ़ मंडल के बलिया के बांसड़ीह में इस मौके पर फूलन देवी की प्रतिमा लगाने की मंशा थी। इस समय वाराणसी और पूर्वांचल भर में विधानसभा चुनाव 2022 जीतने के लिए पार्टी की ओर से प्रदेश कार्यालय खोलने और पार्टी को मजबूती देने के लिए सभी मंडलों में फूलन देवी की शहादत को याद करने की तैयारी है। इसके जरिए पार्टी यूपी में अपना जनाधार मजबूत करने की तैयारी भी कर रही है। पार्टी की ओर से वाराणसी में भी कई जगह पोस्‍टर लगाकर आयोजन को चुनावी रणनीति के तौर पर तैयार किया जा रहा है। रातों रात लगे पोस्‍टर से पूरे यूपी में चुनावी समीकरणों में नए सिरे से बदलाव की उम्‍मीद जताई जा रही है। दरअसल भाजपा के साथ बिहार में सरकार बनाने वाली वीआइपी के अध्‍यक्ष मुकेश साहनी मंत्री भी हैं और यूपी में भाजपा सरकार के सामने वह चुनौती देने जा रहे हैं। इससे पूर्व पूर्वांचल के मजबूत दल सुभासपा से भाजपा का संबंध खत्‍म हो चुका है। अब सुभासपा भी पार्टी के लिए पूर्वांचल से चुनौती पेश कर रही है। जबकि सुभासपा के साथ अददुद्दीन ओवैसी की पार्टी भी साथ खड़ी है, ओवैसी की पार्टी ने बिहार चुनाव में काफी सक्रियता दिखाई और मुस्लिम बहुत क्षेत्रों में पार्टी को वोट भी खूब मिले हैं।



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश