loader

पाकिस्‍तान-चीन के नए परमाणु समझौते से बढ़ेगी हथियारों की दौड़, भारत की बढ़ेंगी चिंताएं

Foto

पाकिस्तान और चीन के नए परमाणु समझौते से दुनिया में हथियारों की दौड़ के साथ ही संघर्ष की आशंका भी बढ़ेगी। यह समझौता भारत के लिए चिंता और चुनौतियां पैदा कर सकता है। द टाइम्स आफ इजरायल में फेबियन बासार्ट ने अपने लेख में कहा है कि यह एक खतरनाक समझौता है। दोनों देशों में परमाणु ऊर्जा सहयोग के लिए किया समझौता इसी साल आठ सितंबर को पाकिस्तान के एटोमिक एनर्जी कमीशन (पीएइसी) और चीन के झोंनग्यान इंजीनियरिंग कोआपरेशन ने परमाणु ऊर्जा सहयोग के लिए एक समझौता किया है। इस समझौते की रूपरेखा 20 अगस्त को हुई एक उच्चस्तरीय बैठक में बनाई गई थी। यह समझौता दस साल के लिए वैध होगा। इस समझौते के तहत परमाणु प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण, यूरेनियम का खनन और संवर्धन, परमाणु ईंधन की आपूर्ति और अनुसंधान रिएक्टरों की स्थापना की जाएगी।



Comments







बॉयोस्कोप

सिटी

प्रदेश